गीतावली

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज

गीतावली / Geetavali

गीतावली
  1. परशुराम-राम-मिलन मिथिला की स्वयंवर भूमि में न होकर बारात की वापसी में होता है और उसमें विवाद परशुराम-राम में ही होता है, लक्ष्मण से नहीं।
  2. राम के राज्यारोहण के अनन्तर 'स्थान, यति, खग' के न्याय ,ब्राह्मण बालक के जीवन-दान, सीता के निर्वासन और लव-कुश जन्म की कथाएँ आती हैं इसी विस्तार में 'रामाज्ञा प्रश्न' भी है।
  1. स्वयंवर भूमि में जब विश्वामित्र राम को धनुष तोड़ने के लिए आज्ञा देते हैं, जनक राम के कृतकार्य होने के विषय में सन्देह प्रकट करते हैं इस प्रकार विश्वामित्र जनक के योग-वैराग्य की सराहना करते हुए कहते हैं कि ऐसा वे राम के स्नेह के वश में होने के कारण समझते हैं और राम भी जनक के योग वैराग्य की उस सराहना का समर्थन करते हैं; जब इन सबके अनन्तर जनक की शंका का निवारण हो जाता है, 'गीतावली' में तब राम धनुष तोड़ने के लिए आगे बढ़ते हैं।
  2. विश्वामित्र के साथ गये हुए राम-लक्ष्मण के विषय में माताएँ चिन्तित होती हैं।
  3. वनवास की अवधि में कौसल्या अनेक बार राम-विरह में व्यथित होती हैं।
  4. राम जटायु के प्रति पितृ-स्नेह और शबरी के प्रति मातृ-स्नेह व्यक्त करते हैं।
  5. रावण के द्वारा सीता के हरण की सूचना राम को देव-गण देते हैं।
  6. हनुमान जब सीता को राम की मुद्रिका देते हैं और हनुमान से राम का कुशल पूछती हैं और मुद्रिका देती है।
  7. रावण से अपमानित होकर विभीषण सीधे राम की शरण में नहीं जाता है।
  8. युद्ध स्थल में लक्ष्मण के आहत होने का समाचार पाकर सुमित्रा हनुमान से अपने दूसरे पुत्र शत्रुघ्न को भी राम के राज्याभिषेक के अनन्तर दोलोत्सव, दीपमालिकोत्सव तथा बसन्तोत्सव आदि होते हैं, जिसमें अयोध्या का समस्त नर-नारी समाज निस्संकोच भाव से सम्मिलित होता है।
कबहु प्रथम ज्यों जाइ जगावति कहि प्रिय बचन सबारे।
उठहु तात बलि मातृ बदन पर अनुज सखा सब द्वारे॥
कबहुँ कहति यों बड़ी बार भई जाहु भूप पहं भैया।
बन्धु बोलि जेंइय जो भावै गई निछावरी मैया॥[2]
आदि पदों में कौसल्या का जो चित्र अंकित किया गया है, वह 'मानस' में नहीं किया गया है और कदाचित जान-बूझकर नहीं किया गया है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. (गीतावली, बालकाण्ड,23,24,28)
  2. गीतावली(अयो॰52)
  3. (गीतावली, अयो॰ पद 44)
  4. गीतावली, उत्तर॰2)
  5. गीतावली(उत्तर॰18-19 तथा 21-22)
निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
अन्य भाषाएं
Mathura A District Memoir
टूलबॉक्स