चित्र:Yaksha-1.jpg

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
सम्पूर्ण रिज़ोल्यूशन(600 × 1,350 चित्र, फ़ाइल का आकार: 151 KB, माइम प्रकार: image/jpeg)
चित्र जानकारी
विवरण: यक्षमणिभद्र के मूर्ति (परखम यक्ष के नाम से प्रसिद्ध)

Yaksha ( Popular Name Parkham Yaksha )

चित्रांकन:
दिनांक: वर्ष - 2009
Year - 2009
स्रोत:
प्रयोग अनुमति: © brajdiscovery.org
शिल्पकार/चित्रकार: कुनिका के शिष्य गोमितक द्वारा निर्मित
Made By Gomitak Pupil of Kunika
प्राप्ति स्थान: परखम, मथुरा
Parkham. Mathura
समय/काल: लगभग तृतीय-द्वितीय शती ई॰ पू.
C. 3rd-2nd Cent. B.C.
उपलब्ध: राजकीय संग्रहालय, मथुरा
Govt. Museum, Mathura
आकार:
संग्रहालय क्रम संख्या:
आभार:
अन्य विवरण: पुराणों के अनुसार यक्षों का कार्य पापियों को विघ्न करना, उन्हें दुर्गति देना और साथ ही साथ अपने क्षेत्र का संरक्षण करना था। मथुरा से इस प्रकार के यक्ष और यक्षणियों की छह प्रतिमाएं मिल चुकी हैं, जिनमें सबसे महत्त्वपूर्ण परखम नामक गांव से मिली हुई अभिलिखित यक्ष-मूर्ति है । धोती और दुपट्टा पहने हुये स्थूलकाय माणिभद्र यक्ष खड़े हैं। इस यक्ष का पूजन उस समय बड़ा ही लोकप्रिय था। देखिए मूर्ति कला



फ़ाइल का इतिहास

फ़ाईल का पुराना अवतरण देखनेके लिये दिनांक/समय पर क्लिक करें।

दिनांक/समयथम्ब प्रारूपआकारसदस्यटिप्पणी
सद्य11:51, 25 सितम्बर 200911:51, 25 सितम्बर 2009 के समय के संस्करण का थम्ब प्रारूप।600×1,350 (151 KB)Ashwani Bhatia (वार्ता | योगदान)

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
टूलबॉक्स