जैमिनि

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
(संस्करणों में अंतर)
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
छो (Text replace - "{{ॠषि-मुनि}}" to "")
 
(बीचवाले 5 अवतरण दर्शाये नहीं हैं ।)
पंक्ति 8: पंक्ति 8:
 
*इन तीनों ने [[वेद]] की एक-एक संहिता बनायी है।  
 
*इन तीनों ने [[वेद]] की एक-एक संहिता बनायी है।  
 
*हिरण्यनाभ, पैष्पंजि और अवन्त्य नाम के इन के तीन शिष्यों ने उन संहिताओं का अध्ययन किया था।
 
*हिरण्यनाभ, पैष्पंजि और अवन्त्य नाम के इन के तीन शिष्यों ने उन संहिताओं का अध्ययन किया था।
 +
==सम्बंधित लिंक==
 +
{{ॠषि-मुनि2}}
  
  
[[श्रेणी: कोश]]
+
[[Category: कोश]]
[[category:ॠषि मुनि]]
+
[[Category:ऋषि मुनि]]
[[category:पौराणिक इतिहास]]
+
[[Category:पौराणिक इतिहास]]
<br />
+
{{ॠषि-मुनि}}
+
 
__INDEX__
 
__INDEX__

19:46, 27 अक्टूबर 2011 के समय का संस्करण

आचार्य जैमिनी / Jaimini

सम्बंधित लिंक

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
टूलबॉक्स