पिताम्बर सिंह स्वतंत्रता सेनानी

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज

श्री पिताम्बर सिंह / Pitambar Singh

आत्मज श्री रामलाल।

सरोठ मथुरा

असहयोग आन्दोलन के दौरान सन 1921 में 25 बेतों की सजा मिली थी।

सविनय अवज्ञा आन्दोलन में भाग लेने के कारण सन 1932 में 6 वर्ष का कारावास और 20 रुपये जुर्माना हुआ सजा काटने के दौरान सन 1933 में अलीगढ़ जेल में 14 माह की सजा और बढ़ी और 20 रुपये जुर्माना हुआ।

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
टूलबॉक्स
अन्य भाषाएं