बिरला मंदिर

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
(संस्करणों में अंतर)
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
छो (Text replace - '==अन्य लिंक== ==सम्बंधित लिंक==' to '==सम्बंधित लिंक==')
छो (Text replace - " ।" to "।")
 
(बीचवाले 3 अवतरण दर्शाये नहीं हैं ।)
पंक्ति 1: पंक्ति 1:
 
{{Tourism3
 
{{Tourism3
 
|Image=Birla-Temple-1.jpg
 
|Image=Birla-Temple-1.jpg
|Location=यह मन्दिर [[वृन्दावन]] मार्ग, [[मथुरा]] पर स्थित है ।
+
|Location=यह मन्दिर [[वृन्दावन]] मार्ग, [[मथुरा]] पर स्थित है।
 
|Near=[[गायत्री तपोभूमि]], प्रेम महाविधालय, मेथोडिस्ट हस्पताल, [[चामुण्डा देवी मन्दिर]]
 
|Near=[[गायत्री तपोभूमि]], प्रेम महाविधालय, मेथोडिस्ट हस्पताल, [[चामुण्डा देवी मन्दिर]]
 
|Archeology=निर्माणकाल- उन्नीसवीं शताब्दी
 
|Archeology=निर्माणकाल- उन्नीसवीं शताब्दी
|Sculpture=मन्दिर परिसर में श्रीमद् भगवत गीता स्तंभ स्थित है ।
+
|Sculpture=मन्दिर परिसर में श्रीमद् भगवत गीता स्तंभ स्थित है।
|Owner=सेठ जुगलकिशोर बिरला
+
|Owner=  
 
|Source=[[इंटैक]]
 
|Source=[[इंटैक]]
 
|Update=2009
 
|Update=2009
पंक्ति 19: पंक्ति 19:
 
चित्र:Birla-Temple-4.jpg|बिरला मंदिर, [[मथुरा]]<br /> Birla Temple, Mathura
 
चित्र:Birla-Temple-4.jpg|बिरला मंदिर, [[मथुरा]]<br /> Birla Temple, Mathura
 
</gallery>
 
</gallery>
==टीका-टिप्पणी==
+
==टीका टिप्पणी और संदर्भ==
 
==सम्बंधित लिंक==
 
==सम्बंधित लिंक==
 
{{ब्रज के दर्शनीय स्थल}}
 
{{ब्रज के दर्शनीय स्थल}}
पंक्ति 26: पंक्ति 26:
 
[[Category:दर्शनीय-स्थल कोश]]
 
[[Category:दर्शनीय-स्थल कोश]]
 
__INDEX__
 
__INDEX__
 +
__NOTOC__

12:58, 2 नवम्बर 2013 के समय का संस्करण

स्थानीय सूचना
बिरला मंदिर

Birla-Temple-1.jpg
मार्ग स्थिति: यह मन्दिर वृन्दावन मार्ग, मथुरा पर स्थित है।
आस-पास: गायत्री तपोभूमि, प्रेम महाविधालय, मेथोडिस्ट हस्पताल, चामुण्डा देवी मन्दिर
पुरातत्व: निर्माणकाल- उन्नीसवीं शताब्दी
वास्तु: मन्दिर परिसर में श्रीमद् भगवत गीता स्तंभ स्थित है।
स्वामित्व:
प्रबन्धन:
स्त्रोत: इंटैक
अन्य लिंक:
अन्य:
सावधानियाँ:
मानचित्र:
अद्यतन: 2009

बिरला मंदिर / Birla Temple

मथुरावृन्दावन मार्ग पर अवस्थित इस मन्दिर को बिरला मन्दिर कहा जाता है। सेठ जुगलकिशोर बिरला ने इसका निर्माण कराया था। इसमें चक्रधारी श्रीकृष्ण की आदमकद प्रतिमा प्रतिष्ठित है। देवालय के उत्तर में लाल पत्थर का एक स्तंभ है, जिस पर सम्पूर्ण गीता खुदी हुई है। मन्दिर का परिषद रमणीक उ़द्यान से आच्छादित है।

वीथिका

टीका टिप्पणी और संदर्भ

सम्बंधित लिंक

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
टूलबॉक्स