रामकरण जैन स्वतंत्रता सेनानी

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

श्री रामकरण जैन / Ramkaran Jain

आत्मज श्री बनारसीलाल।

सहपऊ, मथुरा

नमक सत्याग्रह आन्दोलन में भाग लेने के कारण सन 1930 में 6 मास का कारावास और 300 रुपये जुर्माना हुआ।