आमलक्य एकादशी

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
  • भारत में धार्मिक व्रतों का सर्वव्यापी प्रचार रहा है। यह हिन्दू धर्म ग्रंथों में उल्लखित हिन्दू धर्म का एक व्रत संस्कार है।
  • फाल्गुन शुक्ल पक्ष की एकादशी पर आमलक्येकादशी व्रत किया जाता है।
  • आमलक वृक्ष (जिसमें हरि एवं लक्ष्मी जी का वास होता है) के नीचे हरि की पूजा की जाती है।[१]
  • हेमाद्रि व्रतखण्ड[२] में आमलकी वृक्ष के नीचे दामोदर एवं राधा की पूजा का वर्णन है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पद्म पुराण (6|47|33);
  2. (हेमाद्रि व्रतखण्ड 1, 1155-1156); स्मृतिकौस्तुभ ( स्मृतिकौस्तुभ 516)

संबंधित लेख