ब्रह्मानन्द स्वतंत्रता सेनानी

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

श्री ब्रह्मानन्द / Bramhanand

आत्मज श्री सौदागर राम।

केशीघाट, वृन्दावन, मथुरा

उग्रवादी गतिविधियों के कारण 14 अगस्त 1943 को कुल 5 वर्ष कैद की सजा हुई।