सांख्य दर्शन अहिर्बुध्न्यसंहिता

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज

अहिर्बुध्न्यसंहिता / Ahirbudhany Sanhita

षष्टिभेदस्मृतं तन्त्रं सांख्यं नाम महामुने।
प्राकृतं वैकृतं चेति मण्डले द्वे समासत:॥

  1. ब्रह्मतंत्र,
  2. पुरुषतंत्र,
  3. शक्ति,
  4. नियत,
  5. कालतंत्र,
  6. गुणतंत्र,
  7. अक्षरतंत्र,
  8. प्राणतंत्र,
  9. कर्तृतंत्र समित (स्वामि) तन्त्र,
  10. ज्ञानक्रिया,
  11. मात्रतन्त्र तथा
  12. भूततन्त्र।
  1. कृत्यकाण्ड में पांच,
  2. भोगकाण्ड, वृत्तकाण्ड में एक-एक,
  3. क्लेशकाण्ड में पांच,
  4. प्रमाणकाण्ड में तीन, तथा
  5. ख्याति,
  6. धर्म,
  7. वैराग्य,
  8. ऐश्वर्य गुण,
  9. लिंग,
  10. दृष्टि,
  11. आनुश्रविक,
  12. दुख,
  13. सिद्धि,
  14. काषाय,
  15. समय तथा
  16. मोक्षकाण्ड।

सम्बंधित लिंक

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
टूलबॉक्स