तिन्दुक

ब्रज डिस्कवरी, एक मुक्त ज्ञानकोष से
यहां जाएं: भ्रमण, खोज

तिन्दुक तीर्थ / Tinduk Tirth

अस्ति क्षेत्रं परं गुह्म तिन्दुकं नाम क्रमत:।
तस्मिन् स्नातो नरो देवि ! मम लोके महीयते।।[1]

यह भी गुह्म तीर्थ है। यहाँ स्नान करने पर भगवद् धाम की प्राप्ति होती है। पास ही में दण्डी घाट है जहाँ श्री चैतन्य महाप्रभु ने स्नान किया था और अपने नृत्य एवं संकीर्तन से सभी को मुग्ध कर दिया था। आजकल इसे बंगाली घाट भी कहते हैं

टीका-टिपण्णी

  1. सभी–आदिवाराह पुराण

सम्बंधित लिंक

निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
सुस्वागतम्
अन्य भाषाएं
गीता अध्याय-Gita Chapters
टूलबॉक्स